प्रकृति से जुड़ा छठ पूजा

क्या है ऐसा कोई त्योहार जो युगों युगों से प्रकृति-संरक्षण कर रहा है?                                                                                              

आस्था का महापर्व, प्रकृति और मानव के सम्बंधों का पावन त्योहार छठ।                                                                                          

प्रकृति को उसके उपहारों के लिए आभार प्रदर्शन और श्रद्धा देने की है यह अनूठी परम्परा।                                                                                

जल, नदियों, सागर का सम्मान।                                                                                                                                                    

सूर्य और उसकी रोशनी का मोल , चाहे वह उगता सूरज हो या डूबता रवि।                                                                                          

स्वच्छता का संदेश देता त्योहार।                                                                                                                            

ना पुजारी या पंडित की जरूरत, ना सामाजिक भेदभाव ।                                                                            

कठिन तपस्या, आत्म नियंत्रण और निष्ठा का अद्भुत समिश्रण।                                                                                                          

निश्छलता से आशीर्वाद और मनोकामनाओं के पूरा होने की कामना करते असंख्य व्रती।                                                                            

आज प्रकृति संरक्षण की कोशिशों में क्यों नहीं होती इसकी चर्चा?

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Tech giants including Instagram and Google ‘are hosting online slave markets where domestic workers are being bought and sold for less than £3,000 through apps’

  • Children as young as 16 are being trafficked into Kuwait and sold as maids
  • The maids are traded on online marketplaces by unscrupulous dealers 
  • Ordinary couples also trade their domestic staff online sometimes for a profit 
  • Purchasers are advised to keep the maid’s passport and confiscate her phone  

News in detail