5 thoughts on “lips are silent

  1. नज़र ने नज़र से मुलाक़ात कर ली
    रहे दोनों खामोश पर बात कर ली

    शायद कुछ-कुछ ऐसी ही बात कही है आपने रेखा जी ।

    Liked by 1 person

    1. ये भी रूमी की पंक्तियाँ है . इनकी ख़ासियत है कि हर व्यक्ति अपने अनुसार कुछ अच्छे भाव खोज हीं लेता है. मैं भी इन का अर्थ समझने की कोशिश करती रहती हूँ.
      मेरे विचार में –
      जब हम मौन रहते हैं, तभी अपने दिल के भाव या सच्ची आवाज़ सुन सकते हैं. या हमारे अंदर आध्यात्मिकता आ सकती है.

      Liked by 1 person

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s