जिंदगी के रंग – 40

बातो में खुशबू 

कभी कभी ही महसूस होती है 

जैसे कच्चे  गुलाबे  इत्र  की महक हो फैली हर ओर .

यह हवा के झोंके से बिखरती नहीँ 

कहीँ गहरे दिल में

 खजाने बन जमा हो जाती  हैँ .

यादों के गुलाब बन कर  .

A life without love

A life without love is a waste.

“Should I look for spiritual love, or material, or physical love?”

Don’t ask yourself this question.

Discrimination leads to discrimination.

Love doesn’t need any name, category or definition.

Love is a world itself.

Either you are in, at the center, or you are out, yearning.

❤ Shams of Tabriz 

 

Shams-i-Tabrīzī / Shams al-Din Mohammad was   spiritual instructor of Mewlānā Jalāl ad-Dīn Muhammad Balkhi / Rumi.

जिन्दगी के रंग — 39

जीवन की परिभाषा 

और जीवन  मेंअपनी  परिभाषा

 ढूँढते ढूँढते   कई परिभाषाएँ बनी,  

बनती गई……  और  कई मिटी भी ……

पर यात्रा जारी हैँ 

किसी  शाश्वत और सम्पूर्ण 

परिभाषा  की खोज में …….