रूह-ए-दुर्गा (शुभ नवरात्रि)

नारी के झुकने, झुक कर उठने,

झुकी नज़रों को उठाने की अदा में

दिखती है कायनात की ख़ूबसूरती।

पर नहीं दिखता रूह-ए-दुर्गा ।

क्यों दिखता है सिर्फ़ हुस्न औ जिस्म?

कुछ लोगों की तस्वीर नहीं फ़क़त फ़्रेम

देखने की अजब है आदत।

औरत को तवायफ़….नगरवधु

बनाने की परम्परा जाती नहीं

कि नज़र आते नहीं तवायफ़ को

वधू बनाने वाले।

बदन पे गिरवी निगाहों से आगे देख,

उसका वजूद नज़र आएगा।

NEWS Ankita Bhandari Murder Case –

Main kya 10k mein bik jaungi’: Ankita

told her friend in WhatsApp chat.