क़ैद – पृथ्वी दिवस पर

अफ़सोस क्यों, अगर आज क़ैद में है ज़िंदगी?

जब आज़ाद थे तब तो विचारा नहीं.

अब तो सोंचने-विचारने का समय मिल गया है.

अगर जीवन चाहिये,

तब धरा और प्रकृति का सम्मान करना होगा.

हमें इसकी ज़रूरत है.

यह तो हमारे बिना भी पूर्ण है.

Stay happy, healthy and safe – 29

Enjoying Life’s Pace:  

Waiting really shouldn’t be an occupation.

things will happen when they happen and not one minute sooner.  

That is the way of life; it runs at its own pace.

 Enjoy as many minutes as you can.

 

 

 

 


― Rob Kozak, Finding Fatherhood