Australia’s “Last Unspoiled Paradise” Hides New Threat Under 238 Tons of Trash

हम मानव भी कितने विचित्र है?

जिससे बिना शर्त सब कुछ पाते हैं,

उसका भी सम्मन नहीं करते .

धारती, पहाड़ , अंतरिक्ष . सागर

सभी को दूषित और गंदा कर दिया है.

https://www.google.co.in/amp/s/www.inverse.com/amp/article/55848-australia-cocos-islands-plastic-trash

2 thoughts on “Australia’s “Last Unspoiled Paradise” Hides New Threat Under 238 Tons of Trash

  1. इंसान से ज़्यादा ख़ुदगर्ज़ जानवर इस दुनिया में कोई नहीं रेखा जी । अपने तुच्छ और क्षणिक स्वार्थ के लिए वह सब कुछ नष्ट कर देने से भी पीछे नहीं हटता । उसे न इस धरती से कोई सरोकार है और न ही इस पर बसने वाले अन्य प्राणियों से ।

    Liked by 2 people

    1. स्थिति तो बिलकुल वही है और अफ़सोस की बात है कि अभी भी लोगों की सोंच में विशेष अंतर नहीं है.

      Liked by 1 person

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s