Rules of love – Rule 29

Destiny doesn’t mean that your life has been strictly predetermined.

Therefore, to live everything to the fate and to not actively contribute to the music of the universe is a sign of sheer ignorance.

The music of the universe is all pervading and it is composed on 40 different levels.

Your destiny is the level where you play your tune.

You might not change your instrument but how well to play is entirely in your hands.

Shams Tabriz spiritual instructor of  Rumi ❤️❤️

फिर भी

मालूम है यह हसरत कभी पूरी नहीं होगी।

फिर भी ……..

अक्सर वहाँ जातें हैं,

जहाँ मिले थे।

नज़रें उठाते हैं

इस ख़्वाहिश के साथ –

शायद मुलाक़ात हो जाए ।

पर सब सूना सूना होता है ।

फिर भी………

अक्सर  वहाँ जातें हैं ,

दिल  मानता हीं नहीं……..

श्लोक Sanskrit Shloka – Pearls of Wisdom

अन्नदानं परं दानं विद्यादानमतः परम् ।
अन्नेन क्षणिका तृप्ति र्यावज्जीवं च विद्यया ॥

अन्न दान परम दान है पर विद्या दान उससे बड़ा है क्योंकि अन्न से क्षण भर की तृप्ति होती है और विद्या से आजीवन ॥

Meaning – Giving food is the greater charity, giving knowledge is greatest. As food provides the contentment for sometime and knowledge for the entire life.

Sanskrit is one of the official languages of India and is popularly known as a classical language of the country .

ज़िंदगी तिलस्म

ज़िंदगी और लोगों को समझने की कोशिश में

सारी ज़िंदगी निकल गई .

और जब कुछ समझ में आया तब लगा

ना समझा होता तो अच्छा था .

राज जांने की ख़्वाहिशों

में नाराज़ ज़्यादा हुए .

अजब तिलस्म है यह ज़िंदगी .