Rules of love – Rule 27

Whatever you speak, good or evil, will somehow come back to you.

Therefore, if there is someone who harbours ill thoughts about you, saying similarly bad things about him will only make matters worse.

You will be locked in a vicious circle of malevolent energy. Instead for forty days and nights say and think nice things about that person.

Everything will be different at the end of 40 days, because you will be different inside.

Shams Tabriz spiritual instructor of  Rumi ❤️❤️

अपराजिता

माटी में अपराजिता के

सफ़ेद , बैंगनी , नीले फूलों

के बीजों ने इकट्ठे…….

आपस में किया कुछ गुफ़्तगू .

शायद उनमें प्यार हो गया .

रंग लिया अपने को

एक दूसरे के रंगों में .

(मान्यता है आयुर्वेदिक  अौषधिय पौधा  कृष्णकांत / कोयल / आपराजिता /विष्णुकांता / गोकर्णी का नीला पुष्प दुर्गा, नवदुर्गा, काली,  शनि और सफेद  पुष्प शिव को प्रिय हैं. अौर यह जहाँ होता है उसे पराजित नहीं किया जा सकता है,)

Images – Rekha Sahay.

बंजारे

परछाईंयाँ ……..यादें …….

पीछा करती रहतीं हैं,

आँखों में आँसू

भरती रहतीं हैं.

बचने के लिए जिप्सियों…..

बंजारो…की तरह ना भटको.

आँखें बंद करके

पी जाओ ग़मों को .

Image- google