Stay Happy, healthy and safe -38

शरीरमाद्यं खलु धर्मसाधनम् ।।
śarīramādyaṃ khalu dharmasādhanam

शरीर ही सभी धर्मों (कर्तव्यों) को पूरा करने का साधन है। अर्थात शरीर को सेहतमंद बनाए रखना जरूरी है। इसी के होने से सभी का होना है अत: शरीर की रक्षा और उसे निरोगी रखना मनुष्य का सर्वप्रथम कर्तव्य है। पहला सुख निरोगी काया।

Body is instrument for all (good) deeds.

So its our most important duty to protect it

and keep it healthy.

~उपनिषद

Bhagavad Gita – “Song of the God”

Perform your prescribed duty,

for action is better than inaction.

A man cannot even maintain

his physical body without work.

 

 

~~Bhagavad Gita – “Song of the God”

Karma yoga – yoga of action