समझो जीना आ गया

फ़साने लिखें, जवाब ना आए।

अनदेखा-अनसुना किया जाए।

ऐसी बेरुख़ी की क्या शिकायतें?

सुकून है तब, संभल कर निकल जायें

जब क़रीब से कमजोर- बिखरती इमारतों के।

तब समझो ज़िंदगी जीना आ गया।

TopicByYourQuote

Universe in ecstatic motion

Stop acting so small.

You are the

universe in ecstatic motion.

 

अपने आप को  तुच्छ ना समझो।

 तुम में  सारा  ब्रह्मांड  है।

 

 

Rumi ❤