यूज़ एंड थ्रो

कुछ लोगों को दूसरों को

इस्तेमाल करने की आदत होती है।

अगर ना करने दिया

तो नाराज़ हो जातें हैं।

पर समझा करो यार –

हर कोई यूज़ एंड थ्रो नहीं होता।

रुख़्सत

विदा करने की हो न हो चाहत।

पर रुख़्सत करना पड़ता है।

चाहे गुज़रे किन्ही हालातों से।

चाहे कैफ़ियत कई हो दिल में।

पर आनेवाले को जाने देना पड़ता है।

दुनिया की है यह रीत।

रक़्स-ए-जुगनू

देखा है कभी रक़्स-ए-जुगनू ,

अपने आप से इश्क़ करनेवाले,

नृत्य में डूबे जुगनुओं को?

रातों में अपनी रौशनी में महफ़िलें सजाते?

अँधेरे में बिखेरते अपने उजाले से दुनिया को रिझाते?

अपनी रौशनी से दीवाली मनाते?

दिया सा जलाते, बे-रौशन रातों में?

वैसे हीं अपनी रूह को रौशन रखो!

हौसले का एक सितारा दमकने दो।

यह जीवन के हर पल को रौशन करेगा, अंधकार हरेगा।

Interesting Psychological fact- Self-esteem is your overall opinion of yourself. If you have healthy self-esteem, you feel good about yourself and see yourself as deserving. When you have low self-esteem, you put little value on your opinions and ideas.

बेमेल

अपने सुकून और शांति के लिए

अगर कुछ लोगों से दूर होना पड़े।

तब इसका मतलब है वे आपके

स्वस्थ के लिए बेमेल- विरुद्धाहार हैं।

विरुद्ध आहार- बेमेल या अस्वस्थकर भोजन आयुर्वेद के अनुसार।

मिट्टी में दबे बीज सी है ज़िंदगी !

ना डरो,

जब चारो ओर गहन अँधेरा दिखे।

जब लगे, हो रहा सब ख़त्म।

तभी अंकुर निकलता है,

ऊपर बढ़ने के लिए।

रौशनी से होती है मुलाक़ात।

नीचे जड़े सहारा देने लगती हैं।

मिट्टी में दबे बीज सी है ज़िंदगी भी।

ना तोड़ो नाज़ुक भरोसा

दिल बड़ा नाज़ुक होता है।

रिश्ते दिल के भरोसे पर टिके होते है।

उसके टूटने की आवाज़ नहीं होती।

पर भरोसा टूट जाये ,

तो ज़िंदगी के हर पल में,

हर लफ़्ज़ में इस की गूंज शामिल होती है

औ भरोसा करने की आदत छूट जाती है।

ना करो झूठे वादे, ना किसी का ऐतबार तोडो,

ना तोड़ो नाज़ुक भरोसा।

ये चोट रूह पर निशाँ छोड़ जाता है।

Psychological Fact – Pistanthrophobia is an

enormous fear of trusting people because of

awful past experiences / bad relationship.

दुनिया है रंग मंच

सुना था यह दुनिया है इक रंग मंच, हम सब है किरदार।

जीवन यात्रा में अलग-अलग हैं कहानियाँ और दास्तान।

कुछ मुकम्मल कुछ अधूरी।

सब की डोर है ऊपरवाले के हाथों में।

अब पढ़ा ट्रूमैन शो ऐसा वहम है,

जहाँ व्यक्ति अपने जीवन को रिएलिटी शो

का हिस्सा मान भ्रम में जीता है।

क्या हम सब वास्तव में रंग मंच के ऐसे हीं किरदार हैं,

जिन पर कई नज़रें टिकी हैं? …..

……जीपीएस ट्रेकिंग, कैमरे, सीसीटीवी,

ड्रोन, फ़ेसबुक, इंस्टग्राम, व्हाटअप…….

The Truman Show delusion or Truman syndrome, is a type of delusion in which the person believes that their lives are staged reality shows, or that they are being watched on cameras.

(In the film “The Truman Show,” Jim Carrey plays a man who is an unknowing star of a TV show. His life is streamed to an audience at all times).

मन का सुकून

हम सब जग में लोगों से रिश्ते बनाते हैं।

कभी अपने साथ प्रेम और इश्क़ भरा

रिश्ता बना कर देखो।

लोगों को अपने जीवन के

दायरे और सीमा बता कर देखो।

ग़र मन का सुकून चाहिए,

दूसरों के बदले खुद के लिए

जीवन जी कर देखो।

कई उलझनें ख़ुद-ब-ख़ुद सुलझने लगेंगी।