दर्द और चोट

समझ नहीं आता तन और मन के

दर्द और चोट में इतना भेदभाव क्यों?

तन के चोट पर मलहम-पट्टी और अफ़सोस

करने वालों की भीड़ जुट जाती है।

मन या दिल के चोट जान-सुन कर भी

लोग अनदेखा कर देते हैं।

इसकी तो दवा भी ईजाद नहीं।

दर्द तो दोनों में होता है।

दिखता नहीं इसलिए

इसे अनदेखा करते हैं क्या?

Human behaviour-

Acute emotional stress, positive or negative, can cause the left ventricle of the heart to be ‘stunned’ or paralysed, causing heart attack-like symptoms including strong chest, arm or shoulder pains, shortness of breath, dizziness, loss of consciousness, nausea and vomiting. https://www.health.qld.gov.au › The science behind a broken heart.

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s