युद्ध या शांति

युद्ध या शांति?

क्यों नहीं हम शांति की बातें करते है?

रचना की शक्ति नहीं,

फिर संहारक शिव क्यों बनाना?

शक्ति का ऐसा नशा क्यों?
अमेरिका ने बनाया MOAB – मदर ऑफ़ ऑल बॉम !
रुस क्यों पीछे रहेगा?
उन्होंने बना लिया FOAB – फ़ादर ऑफ़ ऑल बॉम!
नाम में जीवनदाता माता-पिता जैसे पावन शब्द,
भावना दुनिया ख़त्म करने की?

जाने और क्या-क्या बना रखा है।

दुनिया भस्म करने के लिए।

काश, समझने की कोशिश करते
सम्राट अशोक का कलिंग युद्ध विभीषिका

देख किए प्रायश्चितो को,

बौद्ध धर्म अपनाने की भावना को।

*US military’s GBU-43/B Massive Ordnance Air Blast, unofficially called “Mother of All Bombs” is also known as- “MOAB”.

*Russia’s claims “FOAB” was successfully field-tested in the late evening of 11 September 2007.

8 thoughts on “युद्ध या शांति

  1. मानव की महत्वकांक्षा,,,आरंभ से,,अति रही है,,ये ईश्वर की अवहेलना करने से नही माने हैं,,,बस यही कारण है,, शांति से अशांति की ओर जाने का,,,प्रेरक रचना है

    Liked by 1 person

    1. आपकी महत्वकांक्षा वाली बात से मैं सहमत हूँ। एक तरफ़ ये दूसरे ग्रहों पर जीवन खोज़ रहें हैं, दूसरी तरफ़ युद्ध में धरती पर जीवन ख़त्म कर रहें।

      Liked by 1 person

      1. संवेदनशील मन और राजनीतिक धारा,,, कहां कोई मेल है,,, विज्ञान अपना,, काम कर रहा है,,,और राजनीति,, अपनी,,पिस रही,, है जनता

        Liked by 1 person

      2. गहरी बात कही है आपने। राजनीति ऐसा ही खेल है। बहुत आभार नागेश्वर जी।

        Like

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s