मुट्ठी में दबी मुरझाई बेली

किरदार जीना है तो ऐसे जीयो.

मुट्ठी में दबी मुरझाई बेली फूल

अजनबी लगने लगी.

पर ख़ुशबू वही रूहानी

बिखेरती रही हथेलियों औ फ़िज़ा में.

19 thoughts on “मुट्ठी में दबी मुरझाई बेली

    1. बहुत देर किसी भी फूल को मुट्ठी में रखने से फूल कुम्हला कर मुरझा जाते हैं.
      आभार !

      Liked by 1 person

      1. धन्यवाद .
        ज़िंदगी बहुत रंग दिखाती है . पर कठिनाइयों में भी अपनी विशेषता बनाए रखना हीं ख़ास बात है .
        तुमने DP बदला है क्या? सुंदर pic है .

        Liked by 2 people

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s