दिवाली में दीये

किसी ने पूछा –

दिवाली में दीये तो जला सकतें हैं ना?

ग्लोबल वार्मिंग की गरमाहट

तो नहीं बढ़ जायेगी……

नन्हा दीया हँस पङा।

अपने दोस्तों को देख बोला –

देखो इन्हें जरा…..

सारी कायनात  अपनी गलतियों से जलाने वाले

हमारी बातें कर रहें हैं।

जैसे सारी गलती हमारी है।

35 thoughts on “दिवाली में दीये

    1. धन्यवाद ! लोग दिवाली के पटाखे के प्रदूषण /pollution के बारे में नहीँ सोचते और दीया जलाये या नहीँ , इस चिंता में रहते हैँ .

      Liked by 1 person

  1. सच है प्रदुषण बढ़ता है पटाखों से वो सिर्फ दीपावली में।जब पहली जनवरी आती है जब कोई मैच जीतता है तब भी पटाखे फूटते है—-शायद वो प्रदुषण नहीं करता हो !!

    Liked by 1 person

      1. हाँ, हम लोगों ने ज्यादातर बातों को अनदेखा करना सीख लिया है। यह आसान उपाय है।

        Like

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s